तूफानों से क्या डरना

नफरत करना नहीं किसी से, प्यार सभी से करना जी,
तुफ़ान तो आते रहते है, इनसे भी क्या डरना जी ।
हिम्मत करनेवालों को, मिलती मदद सब लोगों की,
सत्कर्मों की तूलिका से जीवन में रंग भरना जी ।

हार-जीत का खेल है जीवन, खले समझकर खेलो,
जो भी मिलता, हाथ बढ़ाकर, ख़ुशी-ख़ुशी तुम ले लो ।
जब तक जियो, हसँ कर जियो इक दिन सबको जाना जी,
तुफ़ान तो आते रहते है इनसे भी क्या डरना जी ।

फक्त क्लिक करून हा भाग शेअर करा.
  • 1
    Share